बिस्फी धौस नदी के जलस्तर में वृद्धि, फिर मंडराया बाढ़ का खतरा


प्रखंड की प्रमुख नदी धौंस के जलस्तर में वृद्धि होने से क्षेत्र में बाढ़ का खतरा फिर से मंडराना शुरू हो गया है। पिछले 48 घंटे के दौरान 40 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गई है। जिसके कारण बाढ़ से घिरे बलहा,दमला, कमलाबाडी, जानीपुर, कटैया, रथोस, भरनटोल, बिस्फी, कोरियानी, भैरबा आदि गांवों में स्थिति फिर से विकट हो गयी है। 

बलहा-दमला, बिस्फी-सिंगिया, बिस्फी-छछुआ-घाटभटरा, नूरचक-नवटोली, जगवन- बरदाहा, बैंगरा-जानीपुर-बरदाहा पथ आदि पथ कई स्थानों पर फिर से पानी में डूब गये हैं। बलहा-भरनटोल, कमलाबाडी, रथोस, जानीपुर आदि गांव अभी भी बाढ़ के पानी से बुरी तरह घिरे हुए हैं। लोगों के आने-जाने का एक मात्र सहारा नाव ही है। 

पिछले एक महीने से बाढ़ और जलजमाव के कारण प्रखंड के अधिकांश पंचायतों में लोगों की परेशानी का अंतहीन सिलसिला जारी है। ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण प्रखंड की अधिकांश आबादी खेती और पशुपालन पर निर्भर है। बाढ़ ने खेतों की फसल तो बरबाद कर ही दिया है। जलजमाव के कारण पशुचारे की भी गंभीर स्थिति बनी हुई है। पशुपालक कई-कई किमी चलकर हरे चारे की व्यवस्था माल-मवेशियों के लिए कर रहे हैं।
Previous Post Next Post